Bharatiy Jyotish

ज्योतिष एक समाधान !! ज्योतिष उपाय, आयुर्वेदिक, वास्तु शास्त्र, अंक ज्योतिष, आरती, चालीसा

रोग मुक्ति के चमत्कारी टोटके !! Rog Mukti Ke Chamatkari Totke

रोग मुक्ति के चमत्कारी टोटके [ Rog Mukti Ke Chamatkari Totke ] : 

यदि आप या आपके घर पर कोई ना कोई हर वक़्त बीमारी से परेशान रहता है तो हम आपके लिए रोह मुक्ति उपाय बताने जा रहे है इन उपाय को आप विश्वास के साथ कीजिये साथ ही साथ आप कर्म भी करना बहुत जरुरी है मतलब की डॉक्टर से परामर्श से दवाई लेना !! कर्म और उपाय दोनों एक साथ करने से आप बहुत जल्द अपनी बीमारी से छुटकारा पा सकते है इसलिए पंडित ललित ब्राह्मण आपको कुछ रोग मुक्ति, रोग निवारण के उपाय बताने जा रहे है जिन्हें आप बहुत ही आसानी से अपने घर पर खुद ही कर सकते हो असर आप स्वयं खुद ही देखने को मिलेगा !! एक बात याद रखना कर्म प्रदान होता है ज्योतिष कोई भगवान नही है अपितु यह एक आपके भविष्य की राह दिखता है !! जय श्री सीताराम !! जय श्री हनुमान !! जय श्री दुर्गा माँ !! यदि आप अपनी कुंडली दिखा कर परामर्श लेना चाहते हो तो या किसी समस्या से निजात पाना चाहते हो तो कॉल करके या नीचे दिए लाइव चैट से चैट करे साथ ही साथ यदि आप जन्मकुंडली, वर्षफल, या लाल किताब कुंडली भी बनवाने हेतु भी सम्पर्क करें : 7821878500

  • तीन पके हुए नीबू लेकर एक को नीला एक को काला तथा तीसरे को लाल रंग कि स्याही से रंग दे । तीनो नीबुओं पर एक एक साबुत लौंग गांड कर तीन मोटी चूर के लड्डू लेकर तथा तीन लाल पीले फूल लेकर एक रुमाल में बांध दे अब प्रभावित ब्यक्ति के ऊपर से सात बार उबार कर बहते जल में प्रवाहित कर दे प्रवाहित करते समय आस पास कोई खड़ा ना हो।
  • दमा रोग [ Dama Rog ] : अपामार्ग के बीजों को लाकर साफ़ कर लें व लाल कपडे से ढक दें। कार्तिक पूर्णिमा के दिन उन्हें धोकर गाय के दूध की खीर बना लें फिर रात्री में उनको छलनी या किसी जाली ढक दें। पूरी चांदनी रात में जो ओस पड़ेगी उस खीर को प्रातः काल में खा लें। यह दमा रोग की पक्की औषधि है। करें व लाभ उठायें। लाल रंग का रिवन घर के मुख्य द्वार पर बांधें। इससे घर में सुख सम्रद्धि आती है और कैसा भी वास्तु दोष हो वह दूर हो जाता है लेकिन किसी शुभ मुहूर्त में रिबन बांधें।
  • शिशु रोग मुक्ति का उपाय : यदि सुख रोग के कारण बच्चा पीला पद गया हो तो मजीठ की लकड़ी में छिद्र करके और सूती धागा पिराकर उसके गले में डाल दें। इस प्रयोग से सुख रोग समाप्त हो जाएगा तथा बच्चा नीरोग होकर हष्ट-पुष्ट व स्वस्थ हो जाएगा।
  • दर्द निवारक [ Dard Nivaran ] : आपको हाथ-पैरों में अथवा कमर के निचले हिस्से में दर्द बना रहता है तो आप काले कपड़े में पीपल के वृक्ष की जड़ व लकड़ी को रखकर अपने बिस्तर के सिरहाने रख लें और साथ में पीपल वृक्ष की सेवा करते रहें। कुछ समय बाद आप दर्द से मुक्त हो जायेंगे।
  • पूरब दिशा में उत्पन्न सम्भालू की जड़ को बच्चे के गले में सूती धागे की सहायता से पहना दें। इस टोटके से अंडकोष-सम्बन्धी कोई रोग नहीं होता है। 

आगे पढ़े : Rog Mukti Ke Chamatkari Upay : Click Here

  • सूती कपडे की थैली में काले कोवे की बीत बांधकर, बच्चे के गले में सूती धागे की सहायता से लटका दें। इस टोटके के प्रयोग से बच्चे का गिरा हुआ काग यानी कौआ बैठ जाता है। यदि इसके कारण बच्चे को खांसी हो गई हो, तो वो भी टोटके के इस प्रयोग से ठीक हो जाती है। यह प्रयोग किसी रविवार या मंगलवार के दिन करना चाहिए।
  • सभी रोगों में पीपल की सेवा से बहुत लाभ प्राप्त होता है , रविवार को छोड़कर नियमित रूप से पीपल के वृक्ष पर प्रात: मीठा जल चड़ाकर उसकी जड़ जो छूकर अपने माथे से लगायें पुरुष पीपल की 7 परिक्रमा करें स्त्री ना करें और अपने रोग को दूर करने की प्रार्थना करें अति शीघ्र लाभ मिलता है ।
  • जिन छोटे बच्चों के सिर पर बाल न हों या कवर नाममात्र को हों तो किसी रविवार के दिन से रसौत व हाथीदांत की राख सिर पर नित्य मलने से बाल उग आते हैं।
  • यदि दुधमुंहे (माँ का दूध पीने वाले) छोटे शिशु को बहुत तीव्रता से हिचकी आ रही हो तो उसके सिर व कलेजे पर कड़वे तेल की हलके हाथ से मालिश करने के उपरान्त एक तिनका लेकर और बच्चे के सिर के ऊपर हाथ करके, तोड़ते हुए, उस टुकड़े को बच्चे के पीछे की ओर फ़ेंक दें। इस क्रिया से तुरंत हिचकी आना बंद हो जाएगी।

  • Join पंडित ललित ब्राह्मण facebook प्रोफाइल : Click Here
  • यदि आप जन्मकुंडली, वर्षफल, लाल किताब कुंडली बनवाना चाहते हो या किसी समस्या से परेशान चल रहे हो तो कॉल करें : 7821878500
  • आगे पढ़े : रोग मुक्ति के चमत्कारी उपाय :  Click Here
Updated: September 5, 2016 — 11:59

Leave a Reply

Bharatiy Jyotish © 2016 Frontier Theme
Translate »
Copy Protected by Chetan's WP-Copyprotect.